Followers

Friday, May 16, 2008

चलो कांस ही सही

सुनकर अटपटा जरूर लगता है मगर क्या करें ये काम का बोझ है की बच्चन परिवार के सदस्यों को आपस मैं मिले हफ्तों गुजर जाते हैं कहते हैं काम के सिलसिले मैं परिवार के सभी सदस्य अलग - अलग शहरों मैं व्यस्त रहते हैं इन दिनों बिग बी अपने ब्लॉग मैं इस तरह उलझे हुए हैं की उन्हें ब्लॉग के अलावा फिलहाल कुछ और सूझ ही नहीं रहा है भला हो इस कांस फेस्टिवल का जो कम से कम किसी परिवार को एक साथ बैठने का अवसर दे रहा है एश्वर्या राय बच्चन इस फेस्टिवल मैं लोरियल कम्पनी की ब्रान्द्द एम्बेसडर की हैसियत से मौजूद रहेंगी

3 comments:

सागर नाहर said...

चलिये किसी ना किसी बहाने ही सही, मिल तो रहे हैं। बाकी लोग एक छत के नीचे रहते हुए भी महीनों एक दूसरे से नहीं मिल पाते..

शशिजी
हिन्दी चिट्ठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है, आप हिन्दी में बढ़िया लिखें और खूब लिखें यही उम्मीद है।

॥दस्तक॥
तकनीकी दस्तक
गीतों की महफिल

सागर नाहर said...

एक बात और कहनी है, टिप्पणी करते समय वर्ड वेरीफिकेशन का टंटा कृपया हटा देवें, यह बड़ी परेशानी करता है।
तकनीकी सहायता के लिये कहें!

shashisinghal said...

सागर जी
नमस्कार ,
सबसे पहले आपको धन्यबाद कहना चाहून्गी कि आपने मेरा ब्लोग देखा और अपनी टिप्पणी दी ।
सागर जी आपने जो वर्ड वेरीफिकेशनका टन्टा वाली बात कही है वह मेरी समझ मै नही आई , कॄपया खुलासा करे ।