Followers

Saturday, August 14, 2010

एक शाम आजादी के नाम


वास्तव में हमारा देश बहुमुखी प्रतिभा का धनी है यहाम एक से बढ़कर एक वीर सपूत , शिक्षाविद ,व होनहारों की कोई कमी नहीं है । एसे होनहारों के अजूबे देखकर दिल खुशी से झूम उठता है और जुबां उनकी सराहना करते नहीं थकती । आजकल टी वी चैनलों पर ऎसे कारनामे आएदिन देखने को मिल रहे हैं । लेकिन जब कोई कारनामा हम अपने समक्ष देखते हैं तो आंखें खुली कि खुली रह जाती हैं । ऎसा ही एक कारनामा करते देखा अंतर्राष्ट्रीय कलाकार बाबा सत्यनारायण मौर्य को । बाबा मौर्य को एक ही समय में गीत , संगीत व काव्य पाठ के साथ - साथ चित्रकारी करते हु भी देखा जो किसी अजूबे से कम नहीं लगा । चित्रकारी ऎसी कि जिसमें रंग और ब्रश तो थे लेकिन उसमें रबिंग के लिए कोई जगह नहीं थी ।
स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या परयहां टेक्निया सभागार में भिवानी परिवार मैत्री संघ द्वारा "एक शाम आजादी के नाम " समारोह का सफल आयोजन किया गया ।भारत माता की आरती व उनके गुणगान के साथ मनाया गया देश की आजादी का रंगारंग समारोह । गीत- संगीत व चित्रकला को अपने में संजोए अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकार बाबा सत्यनारायण मौर्य ने अपनी अनूठी कलाओं का प्रदर्शन कर समारोह में उपस्थित लोगों को खूब रोमांचित किया ।  
    इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय कलाकार बाबा मौर्य ने कहा कि भले ही आज हम देश की आजादी का जश्न मनाकर खुश हों लें मगर आजादी की सार्थकता तभी  होगी जबकि देश का हर नागरिक एकजुट हो देश के विकास में अपना योगदान दे । अपने गीतों व कला के जरिए बाबा मौर्य ने पर्यावरण को बचाने ,भ्रष्टाचार को मिटाने जैसे संदेश जनमानस को दिए । इस दौरान उन्होंने भारत माता के साथ - साथ भगत सिंह व आजाद के भी चित्र बनाए । समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सीमा शुल्क आयुक्त महेन्द्र सिंह श्योराण ,नवलकिशोर गुप्ता व ओमप्रकाश गोयल उपस्थित रहे । संघ के अध्य्क्ष राजेश चेतन ने कहा कि भिवानी के लोगों को एकजुट करके देश व समाज के विकास में योगदान देना ही संस्था का मूल उद्देश्य है । इस अवसर पर सुरेश बिंदल , जगदीश मित्तल , विनोदतिवारी ,  पुरुषोत्तम अग्रवाल , भिवानी के विधायक घनश्याम सर्राफ व भिवानी मूल के अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति भी उल्लेखनीय रही ।

2 comments:

'उदय' said...

... आज हम देश की आजादी का जश्न मनाकर खुश हों लें मगर आजादी की सार्थकता तभी होगी जबकि देश का हर नागरिक एकजुट हो देश के विकास में अपना योगदान दे...

... सार्थक अभिव्यक्ति !!!

विवेक Call me Vish !! said...

hum aajad hai ...!!! iss uttar main sakdon prashn hai jo hum rat din mahsoos karte hai ....or phir bhi kahte hain ...AAJADI KI BADHAI HO !!

aapki reports padkar achha laga!!!
or haa .....main to yahi kahunga hum aaZad hokar rahenge !!


Jai HO Mangalmay HO